article161_4

देवभूमि का ऐसा अनोखा मंदिर, जहां चोरी करने पर पूरी होगी मनोकामना

बचपन से हमें यही शिक्षा दी जाती हैं कि चोरी करना पाप है और अगर चोरी मंदिर में की जाएं तो महापाप….लेकिन उत्तराखंड के इस मंदिर की कहानी जरा हट के है….
article161_1
Source


इस मंदिर में अपनी मनोकामना पूरी करने के लिए लोगों को चोरी करनी पड़ती है…. वैसे तो देव भूमि कहे जाने वाले उत्तराखंड में कई प्राचीन मंदिर है…. लेकिन इन्हीं में से एक अनोखा मंदिर है सिद्धपीठ चूड़ामणि देवी मंदिर….
article161_2
Source

रुड़की के चुड़ियाला गांव में स्थित इस प्राचीन मंदिर में पुत्र प्राप्ति की चाह रखने वाले पति-पत्नी माथा टेकने आते हैं….
article161_3
Source


तो वहीं गांव के लोगों के अनुसार इस मंदिर को 1805 में लंढौरा रियासत के राजा ने बनाया था….ऐसा कहा जाता है कि राजा एक बार शिकार करने जंगल गए तो वहां उन्हें माता की पिंडी के दर्शन हुए… राजा का कोई बेटा नहीं था…. राजा ने उसी समय माता से बेटे की प्राप्ति का वरदान मांगा… उनकी यह मुराद पूरी हो गई…मन्नत पूरी होने पर राजा ने इस मंदिर का निर्माण करवाया….
article161_4
Source

मान्यता है कि जिन्हें पुत्र की चाह होती है वह जोड़ा यदि मंदिर में आकर माता के चरणों से लोकड़ा (लकड़ी का गुड्डा) चोरी करके अपने साथ ले जाए तो बेटा होता है….लेकिन उसके बाद बेटे के साथ माता-पिता को यहां माथा टेकने आना होता है….
article161_5
Source



Loading...
loading...