article129_4

SHOCKING ! यहां लोगो के शरीर पर बिच्छू रेंगते जरुर हैं मगर नहीं मारते किसी को ‘डंक’

आपने यह गाना तो सुना ही होगा यह बिच्छू मुझे काट खाएगा, पकड़ो मारो….. लेकिन यह गाना इस गाँव पर सटीक नही बैठता हैं क्योंकि इस गाँव में यह बिच्छु ना सिर्फ लोगों के शरीर पर रेंगते हैं बल्कि लोगों की रक्षा भी करते हैं…यकीन नहीं हो रहा तो आप खुद ही पढ़ लीजिए….
article129_1
Source


दरअसल कर्नाटक के यादगिर जिले के कांडकूर गांव में हर साल नागपंचमी के बाद यहाँ बिच्छू मेले का आयोजन होता हैं….
article129_2
Source

यहां एक कोंडामाई देवी का मंदिर है… जिसकी पूजा करने तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र तक से लोग यहां आते हैं….तो वहीं पूजा खत्म होने के बाद यहां लोग बिच्छूओं को अपने शरीर पर रेंगने देते हैं….
article129_3
Source

यहां के लोगों का विश्वास हैं कि अगर उन्हें बिच्छू काट गया, तो उसके जहर से देवी माँ उनकी रक्षा करेगी…
article129_4
Source


लेकिन अगर कभी-कभी बिच्छू डंक मार भी दे तो लोग जड़ी-बूटी का लेप लगा लेते हैं…. जिसमें हल्दी मिलाई जाती है…वैसे आजतक यहां कोई भी बिच्छू के डंक से ना तो कोई बीमार हुआ और ना ही मरा है…..
article129_5
Source



Loading...
loading...