‘सेक्स एजुकेशन’ के वक़्त इन बातों का ध्यान रखना है बेहद जरूरी

Article source- Wittyfeed

भले ही हमारा देश और हम वक्त के साथ साथ मोर्डेन होते जा रहे है | लेकिन आज भी सेक्स एजुकेशन की बात होने पर हम अपनी नजर नीची कर लेते है | धीरे धीरे सेक्स एदुकतिओन के लिए लोगो में जागरूकता नजर आई है लेकिन  आज भी कई लोग ‘सेक्स एजुकेशन’ को जरूरी नहीं मानते। वैसे तो स्कूल के किताबो में ‘सेक्स एजुकेशन’ और ‘रिप्रोडक्टिव सिस्टम’ जैसे पाठ  शामिल किया जाता है| लेकिन अध्यापक एवं अध्यापिकाएं इस पाठ को पढने से झिझकते है | जिसकी वजह से जरूर ज्ञान बछो को नहीं मिल पाता है | फिर आजकल  इन्टरनेट पर सबकुछ उपलब्ध है, इसलिए बंदा वहाँ जाकर जानकारी हासिल करने की कोशिश करता है, जो हमेशा ही सही नहीं होती है।

इन्टरनेट के माध्यम से सेक्स एजुकेशन के बारे में ज्ञान लेते वक्त ये बाते जरूर ध्यान में रखे |

हमे हमारे शरीर के हर हिस्से की जानकारी होनी चाहिए एवं उन हिस्सो के कार्य के बारे में भी जानकारी होनी चहिये | अपने शरीर के गुप्त अंगो के बारे में जानकारी प्राप्त करना कोई गलत बात नहीं होती है | बल्कि यह आपको कई मुसीबतों, गलतियों और बीमारियों से बचाता है और खुद को बेहतर ढंग से समझने का मौका देता है।

वैसे तो आज कल इन्टरनेट पर सब कुछ उपलब्ध है लेकिन इसके लिए आपको समझदार होना बेहद जरुरी होता है | युवा पीढ़ी के लिए तो ठीक है लेकिन कम उम्र वाले बच्चे इंटरनेट पर सेक्स एजुकेशन का ज्ञान प्राप्त करने के चक्कर में कुछ गलत सिख लेते है |

loading...